तांबे के बर्तन में रखा पानी पीने के फायदे


तांबे का पानी सेहत बनाने में काफी मदद करता है। साथ ही तांबा प्यूरीफायर का काम करता है। ये पानी की अशुद्धियों को दूर कर देता है।

नई दिल्ली। सेहत ठीक रखने के लिए लोग तरह तरह के उपाय करते है। इन्हीं में से एक है, तांबे के बर्तन में से पानी पीना। दरअसल आपने कई लोगों को बोलते देखा होगा “तांबे के बर्तन का पानी पीना चाहिए इससे सेहत अच्छी रहती है।” आपको बता दें कि आयुर्वेद ही नहीं, विज्ञान ने भी तांबे के बर्तन में रखा पानी पीना लाभकारी बताया है। तांबा प्यूरीफायर का काम करता है। ये पानी की अशुद्धियों को दूर कर देता है। इस पानी का पूरी तरह से लाभ तभी मिलता है, जब तांबे के बरतन में कम से कम 8 घंटे तक पानी रखा जाए। इसलिए लोग रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर सोते हैं, जिससे सुबह उठकर सबसे पहले इस पानी का सेवन कर सकें।

यह भी पढ़ें:-Health Tips : दूध के साथ इन चीजों का सेवन हो सकता है नुकसानदायक

आज कल लोगों में खाना पचाने की दिक्कत बहुत आम समस्या है। तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से इससे छुटकारा मिल सकता है। तांबे में ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो नुकसानदायक बैक्टीरिया को खत्म करते हैं और पेट की सूजन मिटाते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, पेट के रोग मिटाने के लिए रात भर तांबे के बर्तन में रखे पानी को सुबह खाली पेट पीना चाहिए।

तांबे का पानी पीने से और भी बहुत से फायदे हैं। जेसे इसे पीने से पेट की आंतों की गंदगी साफ होती है। आंतों की गंदगी साफ होने से पूरे शरीर पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। तांबे के कारण त्वचा संबंधी समस्याएं भी ठीक होती हैं। साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मददगार है।

यह भी पढ़ें:-Kidney Health : किडनी को स्वस्थारखने के लिए करें ये उपाय, इन आदतों से होता है नुकसान

कुछ सावधानियों का भी ध्यान रखना चाहिएः

  • अगर पेट में अल्सर है या एसिडिटी की समस्या है तो तांबे के बर्तन का पानी न लें क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है।
  • अगर किडनी या हार्ट के मरीज हैं तो डॉक्टर की सलाह से ही पानी पिएं।
  • ज्यादा पानी एक बार में पीना नुकसानदायक हो सकता है।
  • पानी के अलावा खाने-पीने की कोई भी चीज तांबे के बर्तन में डालकर प्रयोग न करें।
  • खासकर दूध, दूध से बनी चीजें और खट्टी चीजें तांबे के बर्तन से रिएक्ट कर सकती हैं।
  • इससे फूड पॉयजनिंग भी हो सकती है।





Show More











Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *